विशेषस्वास्थ्य

खास खबर: प्रदेश में मातृ एवं शिशु विंग्स को शीघ्र पूर्ण करने के निर्देश

स्वास्थ्य मंत्री ने समीक्षा बैठक के दौरान दिए निर्देश

 

हिमाचल प्रदेश में स्वास्थ्य सेवाओं के सुदृढ़ीकरण, जनउपयोगी कार्यक्रम / योजनाओं के सफल संचालन और चिकित्सा व्यवस्था के उन्नयन के लिए प्रदेश सचिवालय में स्वास्थ्य मन्त्री डॉ0 राजीव सैजल की अध्यक्षता में स्वास्थ्य विभाग के उच्चाधिकारियों की समीक्षा बैठक का आयोजन किया गया। इस बैठक में प्रदेश में स्वास्थ्य व्यवस्था के अतिरिक्त विगत वर्षों में संचालित कार्यक्रमों की उपलब्धियों व कमियों पर विस्तृत चर्चा की गई और भावी रणनीति के तहत प्रदेश में मातृ एवं शिशु विंग्स को शीघ्र पूर्ण करने के लिए निर्देशित किया गया। स्वास्थ्य विभाग के प्रवक्ता ने बताया कि इस बैठक में गत दिनों गुजरात मे आयोजित चौदहवें केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के चिन्तन शिविर में विभिन्न पहलुओं पर समीक्षा कही गई।

केन्द्रीय परिषद के चिन्तन शिविर में हिमाचल प्रदेश की स्वास्थ्य सेवाओं की राष्ट्रीय स्तर पर सराहना की गई, जहां टी0बी0 उन्मूलन कार्यक्रम के संचालन में हिमाचल अग्रणी राज्य रहा है। प्रदेश में मूलभूत स्वास्थ्य उपकेन्द्र से लेकर उच्च स्तरीय चिकित्सा संस्थानों की पर्याप्तता पर भी केन्द्रीय परिषद ने संतुष्टि जताई है। 

unnamed (1)
69481ca9-18c3-4cf1-ab5a-7fb02f05b201
15725b5a-5451-40f6-bda1-debb968b5420
e2d6cece-931a-41bf-ab24-ca372b0efe5b

स्वास्थ्य विभाग के प्रवक्ता ने आगे जानकारी देते हुए बताया कि स्वास्थ्य मंत्री ने प्रदेश में कोरोना की वस्तुस्थिति की समीक्षा की और बताया कि हिमाचल में कोविड पॉजिटिव मामलों व मृत्यु दर में निरंतर कमी आ रही है और कोविड की रिकवरी दर 98.5 प्रतिशत है। डॉ0 सैजल ने विभागीय अधिकारियों को निर्देशित किया कि यद्यपि राज्य में कोरोना के मामलों में गिरावट आई है, परन्तु राष्ट्रीय व वैश्विक स्तर पर अभी संक्रमण प्रभावी है, इसलिये कोरोना के प्रति हमें अभी सजग रहना होगा।

केरोना संक्रमण के नियंत्रण /निवारक व उपचारात्मक प्रबंधन की समीक्षा के दौरान संतुष्टि व्यक्त करते हुये डॉ0 सैजल ने बताया कि राज्य में असम्भावित संक्रमण के नियंत्रण व उपचार के लिये पर्याप्त संसाधन व उपकरण उपलब्ध है। इस समय प्रदेश में इसके लिये कुल 11455 बिस्तरों की व्यवस्था है, जिसमें 3069 ऑक्सीजन सहित व 391 आई0सी0यू0 बिस्तर शामिल है। हिमाचल प्रदेश में 59.37 मीट्रिक टन की क्षमता वाले 48 पी0एस0ए0 प्लांट संचालित किये जा रहे है। विभिन्न प्रकार के 18221 ऑक्सीजन सिलेण्डर उपलब्ध है। यदि वेंटीलेटर सुविधा की बात की जाये तो इसकी संख्या 1014 है। कुल मिला कर कोविड संक्रमण नियंत्रण के लिये प्रदेश में पर्याप्त उपकरण, सामग्री और प्रशिक्षित स्टॉफ है। समीक्षा बैठक के अंत में स्वास्थ्य मंत्री ने संतुष्टि व्यक्त करते हुये स्वास्थ्य सेवाओं को और अधिक सुगम, सुलभ और सबल बनाने के निर्देश दिये। इस समीक्षा बैठक में प्रधान सचिव स्वास्थ्य सुभाशीष पांडा, मिशन निदेशक, राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन, हि0प्र0 हेमराज बैरवा, निदेशक स्वास्थ्य सेवाएं डॉ अनिता महाजन के अतिरिक्त अन्य विभागीय उच्चाधिकारी उपस्थित रहे।

Related Articles

Back to top button
English English Hindi Hindi
Close