विविध

चुनाव प्रक्रिया के दौरान सभी नोडल अधिकारियों की भूमिका अग्रणी और महत्वपूर्ण – अनुपम कश्यप

जिला स्तरीय नोडल अधिकारियों के लिए एक दिवसीय प्रशिक्षण कार्यशाला आयोजित

जिला निर्वाचन अधिकारी एवं उपायुक्त शिमला अनुपम कश्यप ने कहा कि चुनाव प्रक्रिया के दौरान सभी नोडल अधिकारियों को अग्रणी और महत्वपूर्ण भूमिका का निर्वहन करना होता है इसलिए सभी अधिकारी समय रहते अपनी तैयारियां पूर्ण करना सुनिश्चित करें ताकि चुनाव प्रक्रिया के दौरान किसी भी समस्या का सामना न करना पड़े।
अनुपम कश्यप आज यहाँ बचत भवन में जिला स्तरीय नोडल अधिकारियों के लिए आयोजित एक दिवसीय प्रशिक्षण कार्यशाला के दौरान उपस्थित अधिकारियों को सम्बोधित कर रहे थे।
उन्होंने कहा कि चुनाव प्रक्रिया के दौरान हर मौके पर विभिन्न चुनौतियां रहती हैं और सभी अधिकारियों को इन चुनौतियों काबेहतर ढंग से सामना करना है। उन्होंने सभी अधिकारियों को अपनी तैयारियां अगले 10 दिन के भीतर पूर्ण करने के निर्देश दिए।
जिला निर्वाचन अधिकारी ने कहा कि पिछले चुनाव के दौरान जो समस्याएं आई थी उन पर विस्तार पूर्वक चर्चा करना आवश्यक है ताकि इस चुनाव में इन समस्याओं का सामना न करना पड़े। इसके लिए सभी अधिकारी अपने से संबंधित मामलों की गहनता से जांच कर लें। उन्होंने अधिकारियों को आश्वस्त करते हुए कहा कि निर्वाचन प्रक्रिया के दौरान जिला निर्वाचन अधिकारी कार्यालय की टीम उनकी सहायता के लिए हर समय उपलब्ध रहेगी ताकि किसी भी समस्या का समाधान तुरंत किया जा सके।
इस दौरान अतिरिक्त उपायुक्त शिमला अभिषेक वर्मा ने कहा कि सभी अधिकारी समय रहते अपनी तैयारियां पूर्ण कर लें क्योंकि चुनाव की घोषणा आगामी दिनों में कभी भी हो सकती है। इसके अतिरिक्त, टीम का गठन और मानव शक्ति का प्रबंधन भी सुनिश्चित कर लें ताकि चुनाव प्रक्रिया के दौरान सभी कार्य समय पर पूर्ण हो। उन्होंने सभी नोडल अधिकारियों को भारत निर्वाचन आयोग के नवीनतम दिशा निर्देश का अध्ययन करने का सुझाव भी दिया।
तहसीलदार निर्वाचन राजेंद्र शर्मा ने बैठक का संचालन किया और सभी नोडल अधिकारियों की जिम्मेदारी बारे विस्तार से जानकारी दी।
इस दौरान अतिरिक्त जिला दंडाधिकारी (प्रोटोकॉल) ज्योति राणा, अतिरिक्त जिला दंडाधिकारी (कानून एवं व्यवस्था) अजित भारद्वाज सहित अन्य जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित रहे।
बॉक्स
इन अधिकरियों को लगाया नोडल अधिकारी
उल्लेखनीय है कि अतिरिक्त उपायुक्त शिमला अभिषेक वर्मा को आदर्श आचार संहिता के कार्यान्वयन, अतिरिक्त जिला दंडाधिकारी (प्रोटोकॉल) ज्योति राणा को मानव शक्ति प्रबंधन और व्यय निगरानी, अतिरिक्त जिला दंडाधिकारी (कानून एवं व्यवस्था) अजित भारद्वाज को ईवीएम प्रबंधन और प्रशिक्षण प्रबंधन, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (मुख्यालय) नवदीप सिंह को कानून एवं व्यवस्था, असुरक्षा मानचित्रण व जिला सुरक्षा योजना आदि, क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी अनिल शर्मा को परिवहन प्रबंधन, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ सुरेखा चोपड़ा को कोविड-19 सम्बंधित व्यवस्था तथा सहायक महाप्रबंधक विल्लिस पार्क परिधि गृह शिमला रविंदर कुमार को पर्यवेक्षकों के लिए नोडल अधिकारी लगाया गया है। इसी प्रकार, परियोजना अधिकारी, जिला ग्रामीण विकास अभिकरण कीर्ति चंदेल को हेल्पलाइन और शिकायत निवारण और सी-विजिल, प्रधानाचार्य आईटीआई शिमला जोगिन्दर शर्मा को सामग्री प्रबंधन, जिला पंचायत अधिकारी यशपाल शर्मा को बैलट पेपर, जिला लोक संपर्क अधिकारी सिम्पल सकलानी को मीडिया/संचार, जिला सूचना विज्ञान अधिकारी पंकज गुप्ता को मतदान कार्मिकों एवं अन्य संबंधित कार्यों के कम्प्यूटरीकरण व एसएमएस निगरानी और संचार योजना, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (सिटी) रतन सिंह को केंद्रीय अर्धसैनिक बलों, कर्मियों के परिवहन और आवास के प्रभावी समन्वय के लिए नोडल अधिकारी लगाया गया है। जिला राजस्व अधिकारी संजीत शर्मा को लोजिस्टिक्स, जिला कल्याण अधिकारी केवल राम चौहान को दिव्यांगों के कल्याण और उनके लिए व्हीलचेयर की व्यवस्था, प्रबंधक डीआईटी नरेंद्र को आईटी और प्रौद्योगिकी के उपयोग, जिला नियंत्रक खाद्य आपूर्ति पूर्ण चंद ठाकुर को भोजन एवं खानपान प्रबंधन, ई-जिला प्रबंधक इटीपीबीएस प्रबंधन, अग्रणी जिला प्रबंधक यूको बैंक भीमा दत्ता को संदिग्ध लेनदेन और उपायुक्त राज्य कर और आबकारी शुल्क के लिए नोडल अधिकारी लगाया है।

Deepika Sharma

Related Articles

Back to top button
Close