विविधविशेष

असर विशेष: हर साल करीब 10 प्रतिशत मोबाईल टावर का औचक निरीक्षण

जानें: टावर से निकलने वाली तरंगें कितनी घातक

हिमाचल प्रदेश लाइसेन्स सर्विस एरिया ( एल. एस. ए.) शिमला , दूरसंचार विभाग , भारत सरकार की क्षेत्रीय इकाई ने मोबाईल टावर से होने वाले उत्सर्जन की जानकारी हेतु काफी अहम वेबीनार का आयोजन किया ।

 

दूरसंचार विभाग के वरिष्ठ उप महानिदेशक  सुभाष चंद ने बताया की मोबाईल नेटवर्क द्वारा उत्सर्जित तरंगें मानव शरीर के लिए पूरी तरह सुरक्षित है और लोगों से अपील की कि वे इसके बारे में पूरी जानकारी रखें जिससे की सभी लोग इस मोबाईल तकनीक का पूरी तरह से उपोयग कर सकें । उन्होंने ये भी बताया की 5G तकनीक के आने के बाद मोबाईल सिर्फ मानव ही नहीं बल्कि मशीनों तक में उपयोग में लाया जाएगा जिसके लिए काफी अच्छे मोबाईल कवरेज की आवश्यकता होगी एवं इसके लिए और भी अधिक मात्रा में मोबाईल एन्टीना ( बी. टी.एस. ) लगाने होंगें।

 

दूरसंचार विभाग के निदेशक (प्रौद्योगिकी)  संजय बंसल ने पॉवर पॉइंट प्रस्तुति में मोबाईल टावर से उत्सर्जित तरंगों , भारत में इन तरंगों के प्रस्तावित मानकों एवं उन मानकों के पालन हेतु की गई व्यवस्थाओं के बारे में विस्तार से बताया । उन्होने यह भी बताया की हिमाचल प्रदेश एल.एस.ए. हर साल करीब 10 प्रतिशत मोबाईल टावर का औचक निरीक्षिण भी करता है एवं उनके द्वारा उत्सर्जित तरंगों का लेवल भी सुनिश्चित करता है ।

8bfbe582-db1b-4942-86ba-ba25886dcd23

 

दूरसंचार विभाग के उप महानिदेशक (प्रशासन)  रणवीर सिंह ने बताया कि दूर संचार विभाग ने लोगों की जानकारी हेतु अपने वेबसाइट पर ई.एम.एफ. के बारे में सम्पूर्ण जानकारी प्रदर्शित कर रखी है और आम जनता tarangsanchar.gov.in पोर्टल पर जा कर अपने क्षेत्र में मोबाईल टावर एवं उससे उत्सर्जित तरंगों के लेवल के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

 

दूरसंचार विभाग के उप महानिदेशक (अनुपालना) श्री जे. प्रेमराज ने इसी क्रम में आगे बताया की मोबाईल ऑपरेटर एवं दूरसंचार विभाग की हिमाचल इकाई साथ मिलकर लोगों को मोबाईल नेटवर्क उत्सर्जन के बारे में जागरूक करें जिससे की लोगों के मन में जो भ्रांतियाँ है वो दूर हो सके और पर्याप्त संख्या में मोबाईल टावर लगाएँ जा सकें ।

 

अंत में दूरसंचार विभाग के सहायक महानिदेशक (अनुपालना)  रॉबिन कुमार लखनपाल ने श्रोताओ के प्रश्नों का उत्तर देते हुए लोगों को मोबाईल उत्सर्जन के बारे में जागरूक रहने की सलाह दी जिससे की आम जनता मोबाईल तकनीक का सुचारु रूप से उपयोग कर सके । इस बात पर भी जोर दिया की मोबाईल नेटवर्क पूरी तरह उपयोग के लिए सुरक्षित है एवं लोग किसी भी तरह की भ्रामक जानकारी से दूर रहें।

 

करीब 60 से ज्यादा प्रतिभागियों ने इस वेबीनार में भाग लिया ।  रणवीर सिंह  ने सभी का धन्यवाद करते हुए वेबीनार का समापन किया।

Related Articles

Back to top button
English English Hindi Hindi
Close