विविध

प्रदेश की साक्षरता दर 83 प्रतिशत से अधिक हो चुकी

 

 

मुख्यमंत्री ने बिलासपुर जिला के घुमारवीं में प्रगतिशील हिमाचल स्थापना के 75 वर्ष समारोह की अध्यक्षता की

 

मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने हिमाचल प्रदेश के अस्तित्व के 75 वर्ष पूरे होने के उपलक्ष्य में प्रगतिशील हिमाचल स्थापना के 75 वर्ष समारोह के अवसर पर बिलासपुर जिले के घुमारवीं विधानसभा क्षेत्र के घुमारवीं में एक विशाल जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि हिमाचल प्रदेश छोटा और पहाड़ी राज्य होने के बावजूद आज कई बड़े राज्यों के लिए भी एक आदर्श के रूप में उभरा है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि एक ओर देश आज़ादी का अमृत महोत्सव मना रहा है, वहीं दूसरी ओर हिमाचल प्रदेश भी अपने अस्तित्व के 75 साल पूर्ण कर रहा है। उन्होंने कहा कि ये 75 वर्ष राज्य की एक महत्वपूर्ण विकास यात्रा के साक्षी रहे हैं। उन्होंने कहा कि इस राज्य के प्रत्येक नागरिक ने प्रदेश की इस विकास यात्रा में अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया है। उन्होंने कहा कि प्रदेश को देश के सबसे विकसित राज्यों में से एक बनाने में राज्य के प्रत्येक मुख्यमंत्री का भी योगदान रहा है।

जय राम ठाकुर ने कहा कि राज्य के गठन के समय साक्षरता दर केवल 4.8 प्रतिशत थी, जबकि आज प्रदेश की साक्षरता दर 83 प्रतिशत से अधिक हो चुकी है। उन्होंने कहा कि हिमकेयर, सहारा योजना, गृहिणी सुविधा योजना, मुख्यमंत्री स्वावलंबन योजना, शगुन योजना जैसी अनेक योजनाओं ने हर जरूरतमंद परिवार की सहायता की है। उन्होंने कहा कि सामाजिक सुरक्षा पेंशन में वृद्धि की गई है और बिना आय मानदंड के वृद्धावस्था पेंशन प्राप्त करने की आयु सीमा को पहले 80 वर्ष से घटाकर 70 वर्ष किया गया और अब इसे 60 वर्ष कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि जरूरतमंदों को सामाजिक सुरक्षा पेंशन उपलब्ध करवाने पर 1300 करोड़ रुपये की राशि व्यय की जा रही है। कांग्रेसी नेता राज्य सरकार पर कमजोर वर्गों की अनदेखी के बेबुनियाद आरोप लगा रहे हैं।

जय राम ठाकुर ने कहा कि राज्य सरकार ने महिलाओं के उत्थान और सशक्तिकरण पर विशेष बल दिया है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार महिलाओं को एचआरटीसी की बसों में किराये में 50 प्रतिशत की छूट दे रही है। घरेलू बिजली उपभोक्ताओं को प्रतिमाह 125 यूनिट तक मुफ्त बिजली प्रदान की जा रही है। प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों को मुफ्त पानी उपलब्ध करवाया जा रहा है।

जय राम ठाकुर ने कहा कि प्रदेश सरकार की कल्याणकारी योजनाएं कांग्रेस के नेताओं को रास नहीं आ रही हैं और वे लोगों को मुफ्त में सेवाएं उपलब्ध करवाने के आरोप लगा रहे हैं। मुख्यमंत्री ने लोगों से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के हाथ मजबूत करने का आग्रह किया ताकि केंद्र और राज्य में डबल इंजन की सरकारें हिमाचल को नई बुलंदियों तक पहुंचा सकें।

8bfbe582-db1b-4942-86ba-ba25886dcd23

बिलासपुर जिले के विकास की चर्चा करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि यहां के लोगों ने भाखड़ा परियोजना के लिए अपनी उपजाऊ भूमि उपलब्ध करवाकर देश के विकास में बहुत बड़ा योगदान दिया है। विभिन्न युद्धों के समय यहां के वीरों ने देश की सीमाओं की रक्षा के लिए भी बलिदान दिए हैं। कारगिल युद्ध के परमवीर चक्र विजेता संजय कुमार भी इसी जिले के रहने वाले हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा भी बिलासपुर जिले से ताल्लुक रखते हैं।

उन्होंने कहा कि जगत प्रकाश नड्डा की दूरदृष्टि के कारण ही आज हिमाचल में प्रतिष्ठित संस्थान एम्स के अलावा मंडी, बिलासपुर, चंबा, सिरमौर और हमीरपुर में नए मेडिकल कालेज संचालित किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने कोरोना महामारी के बावजूद विकास की गति प्रभावित नहीं होने दी है। केंद्र सरकार के अपार सहयोग और राज्य सरकार की मजबूत राजनीतिक इच्छाशक्ति के कारण यह समय हिमाचल के विकास के इतिहास में एक स्वर्ण युग साबित हुआ है। उन्होंने कहा कि मजदूरों के दैनिक वेतन में 50 रुपये की वृद्धि अपने आप में एक रिकॉर्ड है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ने आशा कार्यकर्ताओं, आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं और अन्य पैरा वर्कर्स के मानदेय में भी भारी बढ़ोतरी की है।

इस अवसर पर सूचना एवं जन सम्पर्क विभाग द्वारा निर्मित हिमाचल प्रदेश के गठन के 75 वर्ष पर एक थीम गीत और हिमाचल प्रदेश के 75 वर्षो के गौरवशाली इतिहास पर आधारित एक वृतचित्र भी प्रदर्शित किया गया।

खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री राजिन्द्र गर्ग ने अपने गृह क्षेत्र में मुख्यमंत्री का स्वागत करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर के कुशल नेतृत्व में प्रदेश और बिलासपुर जिला में अभूतपूर्व विकास हुआ है। उन्होंने कहा कि वर्तमान राज्य सरकार के कार्यकाल में घुमारवीं विधानसभा क्षेत्र में चहुंमुखी विकास हुआ है। उन्होंने कहा कि शिक्षा, स्वास्थ्य, बागवानी और पेयजल सहित अन्य क्षेत्रों में प्रदेश द्वारा अर्जित की गई उपलब्धियों को सभी ने सराहा है। उन्होंने गत साढ़े चार वर्षों के दौरान अपने निर्वाचन क्षेत्र में कार्यान्वित की जा रही विभिन्न विकासात्मक परियोजनाओं की भी जानकारी प्रदान की।

झण्डूता के विधायक जीत राम कटवाल, बिलासपुर सदर के विधायक सुभाष ठाकुर, राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के उपाध्यक्ष रणधीर शर्मा, मुख्यमंत्री के राजनीतिक सलाहकार त्रिलोक जम्वाल, कौशल विकास निगम के राज्य समन्वयक नवीन शर्मा, जिला परिषद की अध्यक्ष मुस्कान, भाजपा जिलाध्यक्ष स्वतंत्र सांख्यान, हिमाचल प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड के अध्यक्ष सुरेश सोनी, बिलासपुर के उपायुक्त पंकज राय और अन्य गणमान्य व्यक्ति इस अवसर पर उपस्थित थे। .0.

Related Articles

Back to top button
English English Hindi Hindi
Close