विशेष

हैरानी: शिमला का एक स्कूल ऐसा जिसमें तीन छात्रों पर चार शिक्षक 

नेताओं और अध्यापकों की मिलीभगत से मनचाहे स्थान पर हो रही शिक्षकों की तैनाती*: आप

 

 

*कई स्कूलों में सिर्फ दो- तीन छात्रों पर चार-चार शिक्षक, तो प्रदेश के 2683 स्कूलों में एक एक शिक्षक* 

*500 से ज्यादा स्कूलों में लटके ताले मुख्यमंत्री के गृह जिले में 26 स्कूल हुए बंद* 

*प्रदेश के सरकारी स्कूलों में 11083 शिक्षकों की कमी ,सरकार मौज मस्ती में व्यस्त,छात्रों के भविष्य की नहीं चिंता*

 

 

 

 

हिमाचल प्रदेश में शिक्षा का स्तर दयनीय स्थिति में है। शिक्षा की बदतर हालात को लेकर प्रदेश की भाजपा सरकार लगातार आम आदमी पार्टी के निशाने पर है आम आदमी पार्टी शिक्षा के गिरते स्तर को लेकर जयराम सरकार कठघरे में खड़ा कर रही है। पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता गौरव शर्मा ने सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि प्रदेश में शिक्षा व्यवस्था सवालों के घेरे में है जहां मात्र तीन छात्रों पर चार चार शिक्षक नियुक्त किए गए हैं जबकि प्रदेश के 2683 प्राथमिक स्कूल ऐसे हैं जो एक एक शिक्षक के सहारे चल रहे हैं। ऐसा हाल प्रदेश में पहली बार देखने को मिला है जहां प्रदेश की राजधानी शिमला के साथ सटे गवाही मिडल स्कूल में मात्र तीन छात्र हैं जबकि उन्हें पढ़ाने के लिए सरकार ने चार शिक्षक नियुक्त किए हैं। यह खेल तब खेला जा रहा है जहां प्रदेश में 11083 शिक्षकों की कमी है। शिक्षकों के साथ साथ स्कूल में बच्चों की कमी भी देखने को मिल रही है। भाजपा के शासन काल में शिक्षा का स्तर इतना गिर चुका है कि यहां न तो बच्चे सरकारी स्कूलों में पढ़ने आ रहे हैं और न ही बच्चों के अभिभावक स्कूल पढ़ने के लिए भेज रहे हैं क्योंकिं सरकार मौज मस्ती में व्यस्त है उसे प्रदेश के बच्चों के भविष्य की चिंता नहीं है।

मौजूदा समय में नेताओं की हालत भी ऐसी है जो अपने चहेते शिक्षकों को अपने मनपसंदीदा स्टेशन पर नियुक्ति देती है जिसकी वजह से स्कूलों में छात्र कम और शिक्षक ज्यादा हैं।उन्होंने कहा कि ऐसी शिक्षा व्यवस्था न तो प्रदेश और न ही बच्चों के भविष्य को उज्ज्वल कर सकती है।

872de03e-d87f-460b-b46e-6b62a827842d
591110c2-a4c5-4f60-8fc4-da16a79cc096
f9ac94c3-a890-4b83-be99-7095adb24bf1

प्रदेश प्रवक्ता ने कहा कि शिक्षा का स्तर इतना गिर चुका है कि मुख्यमंत्री के गृह जिला मंडी में भी 26 स्कूलों पर ताला लटक गया है जहां एक भी बच्चे ने सरकारी स्कूल में एडमिशन नहीं ली है। प्रदेश में बीते साढ़े चार सालों में 500 से ज्यादा स्कूल बंद हो गए हैं। जिसमें जिला शिमला के 39 स्कूल, कांगड़ा में 30 स्कूलों पर ताला लटक गया है।

प्रदेश प्रवक्ता ने कहा कि बड़ी दुर्भाग्य की बात है भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष माननीय जेपी नड्डा जी जो खुद हिमाचल से संबंध रखते हैं। यहां पर बहुत से पदों पर वह अपनी सेवाएं दे चुके हैं। वह मंत्री भी रहे और उनका हिमाचल प्रदेश में केवल मात्र दौरा जो है राजनीति से प्रेरित रहता है। एक ओर हिमाचल प्रदेश में यह सारी चीजें घट नहीं है स्कूलों की बदतर हालत हो रही है। कहां तो उन्हें अपनी सरकार को पूछना चाहिए था कि शिक्षा की गुणवत्ता के लिए प्रदेश सरकार जयराम क्या काम कर रही है। लेकिन नहीं वे कुछ नहीं पूछना चाहते वह केवल मात्र अपने जो राजनीति की चीजों को साधने में लगे हैं और वह केवल मात्र यह देख रहे हैं कि कैसे सत्ता को हथियाया जाए। तो यह बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण है। न वह जो पेपर लीक हो रहे हैं इस पर भी कोई जवाब नहीं देना चाहते हैं। न वह कोई पुलिस भर्ती में जो धांधली हुई है उस पर कोई जवाब देना नहीं चाहते। केवल मात्र अपनी राजनीति चमकाने के लिए बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष हिमाचल प्रदेश में जगह जगह घूम रहे हैं और और मस्ती कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी आने वाले दिनों में प्रदेश की शिक्षा व्यवस्था में सुधार करेगी और प्रदेश व बच्चों के भविष्य को उज्ज्वल करेगी।

4b2341c4-3aa4-4446-8ce1-c8b068ede0e0
1c4233f0-cfa4-4705-93e2-5aa33e8990d2
7d0cdef5-28ca-438e-8fa4-925be4db816c
6f5c6228-8b34-444d-b8da-cd8ae6ebf06f

Related Articles

Back to top button
English English Hindi Hindi
Close