ब्रेकिंग-न्यूज़

आवाज़ : उप निदेशक की जिला स्तर पर नियुक्ति मंजूर नहीं

हिमाचल प्रदेश मुख्याध्यापक अधिकारी संघ ने उप निदेशक की जिला स्तर पर नियुक्ति का विरोध किया है । संघ के राज्य अध्यक्ष रत्न सिंह वर्मा के नेतृत्व में संघ का एक प्रतिनिधिमंडल शनिवार को निदेशक उच्च शिक्षा एवम शिक्षा मंत्री रोहित ठाकुर से मिला । हाल ही में शिक्षा सचिव ने उप निदेशकों के खाली पड़े पदों को जिला स्तर पर भरने के आदेश दिए हैं । इस बारे संघ का कहना है कि उप निदेशक का पद एक राज्य स्तरीय पद है । वरिष्ठता सूची में जो प्रधानाचार्य वरिष्ठ क्रम में हैं उनमें से अधिकतर एक ही जिले में कार्यरत है । उदाहरण के तौर पर मुख्याध्यापक की वरिष्ठता सूची में 20 वरिष्ठ प्रधानाचार्यों में से 11 शिमला जिले में ही कार्यरत हैं । जिला स्तर पर नियुक्ति दिया जाना वरिष्ठ प्रधानाचार्यों के साथ अन्याय है ।

वर्तमान में उप निदेशकों के 29 पद खाली चल रहे हैं , इनमे से 23 पद मुख्याध्यापक वर्ग से तथा 6 पद प्रवक्ता वर्ग से खाली हैं । संघ ने शिक्षा मंत्री से शिक्षा सचिव के आदेश को तुरंत वापिस लेने और उप निदेशकों के पदों को राज्य स्तर पर भरने का आग्रह किया तथा शिक्षा मंत्री ने भी उस आदेश को वापिस लेने का आश्वासन दिया है साथ । यदि मुख्याध्यापकों के लिए सुरक्षित पदों पर किसी अन्य वर्ग विशेष को लाभ देने हेतु कोई भर्ती की गई तो उसका पुरजोर विरोध किया जायेगा ।
संघ ने सरकार से मांग की है कि यदि कोर्ट के आदेशों के चलते पदोन्नति नही हो सकती है तो स्थानांतरण द्वारा 23 पदों पर मुख्याध्यापक वर्ग के वरिष्ठ प्रधानाचार्यों को तथा 6 पदों पर प्रवक्ता वर्ग के प्रधानाचार्यों को नियमों के तहत नियुक्ति दी जाय।

Deepika Sharma

Related Articles

Back to top button
Close