शिक्षा

प्रदेश भर में छात्रों को बस पास बनाने में परेशानी

प्रदेश भर में छात्रों के बस पास हो ऑनलाइन: अभाविप

 

 

 

 

अभाविप ने साफ किया है कि  लगभग 2 वर्ष का समय बीत जाने के बावजूद भी महामारी का प्रभाव पूरी  तरह से नहीं थमा है।रोजाना हिमाचल प्रदेश में भी महामारी के नए नए मामले आ रहे है।ऐसे समय में शासन व प्रशासन द्वारा ऑनलाइन माध्यम को अनेक क्षेत्रों में प्राथमिकता दी जा रही है ताकि महामारी के प्रभाव को रोका जाए।

 

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के प्रांत सह मंत्री विक्रांत ने कहा कि शिक्षा क्षेत्र में छात्रों को सबसे ज्यादा नुकसान हुआ है ऐसे में लंबे समय तक प्रदेश भर में शिक्षण संस्थान बंद रहे है।

 

टीकाकरण के पश्चात महामारी से बचाव के मापदंडों और नियमों के साथ महाविद्यालय प्रदेश में खोले गए है अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद इस निर्णय का स्वागत करती है।

 

लेकिन छात्रों को बस स्टैंड में काउंटर में कतार में रहना पड़ता है जिस कारण छात्रों को भारी समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है छात्रों को प्रशासन द्वारा प्रवेश और परीक्षा से संबंधित भी ऑनलाइन माध्यम की सुविधा विश्वविद्यालय द्वारा मुहैया कराई जा रही है ताकि छात्रों को फीस जमा करने हेतु बैंक अथवा किसी भी प्रकार की समस्याओं का सामना न करना पड़े लेकिन यदि छात्रों की परिवहन से संबंधित बस पास व्यवस्था की बात की जाए तो रोजाना छात्रों को भीड़ का सामना करते हुए कोविड का जोखिम लेना पड़ रहा है अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद सरकार से मांग करती है कि हिमाचल पथ परिवहन निगम विभाग से मांग करते है कि छात्रों की सुविधा के लिए बस पास हेतु ऑनलाइन माध्यम मुहैया करवाया जाए ताकि छात्रों को समस्याओं का सामना न करना पड़े।

 

 

 

Related Articles

Back to top button
English English Hindi Hindi
Close